Anger Horoscope: क्रोध एक स्वाभाविक भावना है जो हर एक इंसान के अंदर जन्म से ही होती है। चाहे इंसान कितना ही बड़ा साधु या महंत हो, क्रोध एक भावना है जो उसके अंदर हमेशा से ही रहती है। बस अंतर इतना होता है की कुछ लोग इस क्रोध पर काबू पा लेते हैं और कुछ लोग इस क्रोध को अपने ऊपर हावी होने देते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी कुछ राशियों के बारे में जिनके जातकों को सबसे अधिक गुस्सा आता है।

तुला (Libra)

तुला राशि के लोग काफी सहज स्वभाव के होते हैं इनके जीवन में संतुलन का स्तर काफी ज़्यादा होता है। इस राशि के जातक अपनी आंखों के सामने कुछ भी गलत होता देख उसका विरोध करते हैं। इनके लिए अन्याय होना और सहना उत्तेजना का कारण बन सकता है। इस राशि के जातकों के लिए अन्याय और आलस्य उत्तेजना का मूलरूप से कारण होता है। इनके जीवन में हर रूप से संतुलन कायम रहता है लेकिन अगर इन्हें क्रोध आ जाए तो यह उस पर काबू करने में सक्षम नहीं होते हैं।

मेष (Aries)

मेष राशि के जातकों को गुस्सा दिलाना बहुत ही आसान है। इस राशि के जातकों का अधिकतम समय गुस्सा नाक पर ही होता है। इन्हें हर छोटी बात पर बहुत ही जल्द गुस्सा आ जाता है। खास तौर पे अगर आप इनके कर रहे किसी कार्य में नुस्ख निकालें या फिर अड़चन डालें तो यह बहुत ज्यादा उत्तेजित हो जाते हैं। इनके अंदर संयम की कमी होती है यह किसी भी कार्य को जल्द से जल्द करना चाहते हैं। इन्हें अगर आप किसी कार्य के लिए ना कहते हैं तो आप इन्हें उत्तेजित कर सकते हैं। अगर इन्हें आपकी कोई बात पसंद नहीं है तो यह आपको वह बात सीधे बोल देंगे।

यह भी पढ़ें: Love Horoscope: इन 5 राशि के लोग करते हैं सबसे अधिक प्यार

कर्क (Cancer)

कर्क राशि के लोग बहुत जल्दी बहुत ज्यादा क्रोधित हो जाते हैं। अगर आप इनकी भावनाओं को नही समझते या फिर आप इनके प्यार और समर्पण का गलत फायदा उठाते हैं तो यह इन्हें अत्यधिक उत्तेजित कर देता है। आम तौर पर, कर्क राशि के लोग अपनी भावनाओं के साथ काफी सहज होते हैं, लेकिन क्योंकि उनका उनके क्रोध पर कोई वश नहीं होता वह कभी कभी क्रोधित होकर अपने आपे से बाहर हो जाते हैं। इस राशि के जातक केवल यही चाहते हैं की लोग इनकी बातों और भावनाओं को समझें ख़ासा कर के वह लोग जो इनके बेहद करीबी हैं।

मिथुन (Gemini)

मिथुन राशि के लोग जब किसी बात को लेकर अत्यधिक सोचते हैं या जब कोई बात उनके चिंता का कारण बनती है तो वह गुस्से में आ जाते हैं। इस राशि के जातकों के लिए उनके क्रोध का मूलरूप से कारण होता है उनका तनाव। जब कोई भी परिस्थिति इनके वश से बाहर होती है या अगर वह किसी संकट से निकलने के निरंतर प्रयास में असफल होते हैं तो उनका क्रोध चरम पर आ जाता है। यह लोग काफी जल्दी घबरा जाते हैं और अपना संयम को बैठते हैं इन्हें किसी भी बात में तर्क और तंज़ पसंद नहीं होता। इस राशि के जातकों को चाहिए की यह किसी भी मुद्दे पर अत्यधिक सोचना बंद करें, इनका अत्यधिक सोचना ही अक्सर इनके गुस्से का असल कारण बन जाता है।