भारत में इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की मांग बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ रही है। और मांग बढ़ने की सबसे खास वजह हैं इन इलेक्ट्रिक स्कूटर्स और बाइकों का कम बजट में और अच्छी खासी लंबी रेंज देना। और इस बढ़ती डिमांड को देखते हुए बड़ी और छोटी कंपनियों के साथ ही अब नए स्टार्टअप ने भी इस सेगमेंट में नए ई- स्कूटर्स को मार्केट में लॉन्च करना शुरु कर दिया है। और आज के समय में मार्केट में इन इलेक्ट्रिक टू -व्हीलर्स की एक काफी लंबी रेंज मौजूद है। और अगर ऐसे में आप भी नया इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं उन सावधानियों के बारे में जिन्हें आपको नया ई- स्कूटर खरीदने के दौरान ध्यान में रखना चाहिए। और इन सावधानियों को पढ़ने के बाद आप इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदेंगे, तो आप कोई भी भारी नुकसान उठाने से खुद को बचा सकते हैं।

  1. ई- स्कूटर की कीमत- किसी भी नए ई- स्कूटर को खरीदने से पहले आप सबसे पहले आप अपना बजट तय करें, कि आप ज्यादा से ज्यादा कितना पैसा खर्च कर सकते हैं। और अगर आप फाइनेंस प्लान के तहत स्कूटर खरीदना चाहते हैं, तो उससे पबले ये सुनिश्चित कर लें की आप स्कूटर के लिए कितनी मंथली ईएमआई का भुगतान करने में सक्षम हैं। जिससे की आपके महीने का बजट बिगड़े नहीं। और इन दोनों बातों को ध्यान में रखते हुए आप अपने बजट में आने वाले ई- स्कूटर के ऑप्शन्स की जानकारी लें।
  2. ई- स्कूटर की जरूरत- जब एक बार आपका बजट बन जाए इसके बाद आप ई- स्कूटर की जरूरत पर ध्यान दें। जैसे की अगर आपको ये स्कूटर ऑफिस आने- जाने या फिर घरेलू कामों को निपटाने के लिए चाहिए। और अगर आपको ऑफिस जाने के लिए ये स्कूटर चाहिए, तो अपने ऑफिस से घर के बीच की दूरी को कैलकुलेट करें और उसके बाद अपने हिसाब से उतनी ही लंबी रेंज देने वाले स्कूटर की तलाश करें। वहीं अगर आप घरेलू कामकाज के लिए ई-स्कूटर खरीदना चाहते हैं तो फिर कम कीमत और कम रेंज वाला स्कूटर भी आपके लिए अच्छा ऑप्शन हो सकता है।
  3. ई- स्कूटर की रेंज और स्पीड – नया ई- स्कूटर खरीदते समय उस स्कूटर की रेंज और स्पीड पर खास ध्यान दें, क्योंकि कंपनीयों द्वारा बताई गई रेंज और उसकी टॉप स्पीड आदर्श स्थितियों में ही टेस्टिंग के दौरान हासिल की जाती है। इसलिए कोई भी नया स्कूटर खरीदने से पहले एक बार उसकी टेस्ट ड्राइव जरूर लें। और अगर आपके लिए संभव हो तो उस स्कूटर को पहले से खरीद चुके लोगों से संपर्क करके उसकी रेंज के बारे में जानकारी लें। और इसके बाद ही स्कूटर को खरीदने की प्लानिंग करें।
  4. ई- स्कूटर की बैटरी के अलावा गारंटी और वारंटी – किसी भी ई- स्कूटर का मुख्य पार्ट होता है उस स्कूटर की बैटरी, इसलिए ई- स्कूटर को खरीदने से पहले कंपनी से उसकी बैटरी की पावर के साथ – साथ, क्षमता के अलावा उस पर दी जा रही गारंटी और वारंटी के बारे में जरुर पूरी तरह से जान लें। क्योंकि अगर भविष्य में आपके स्कूटर की बैटरी में किसी भी तरह की खराबी आती है, तो आपके पास गारंटी और वारंटी न होने की वजह से आपको नई बैटरी खरीदने पड़ सकती है। और इसके लिए आपको एक मोटी रकम खर्च करनी पड़ेगी।
  5. ई- स्कूटर की सर्विस– नए ई- स्कूटर को खरीदने से पहले कंपनी द्वारा उस पर दी जा रही सर्विस और उसके साथ- साथ सर्विस सेंटर की भी जानकारी हासिल करें, क्योंकि कई ऐसी कंपनियां होती हैं जो स्कूटर तो बेचती हैं, लेकिन उसके सर्विस सेंटर नहीं होते और अगर होते भी हैं तो वह बहुत दूर स्थित होते हैं। इसलिए टू-व्हीलर खरीदने से पहले कंपनी द्वारा दी जा रही रोड साइड असिस्टेंस में सर्विस से लेकर सर्विस सेंटर तक की शर्तों की पूरी डिटेल जरूर पता कर लें।