नई दिल्ली: Corona: ब्रिस्टल विश्वविद्यालय (Bristol University) के एरोसोल रिसर्च सेंटर (Aerosol Research Centre) द्वारा किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि कोरोना वायरस हवा में मिलने के 20 मिनट के अंदर ही संक्रमित करने की 90 प्रतिशतक्षमता खो देता है- जिसमें से अधिकांश नुकसान पहले पांच मिनट के भीतर होता है। इस कारण से सैनिटाइजर का समय समय पर उपयोग करना और मास्क पहनना संक्रमण को रोकने का सबसे प्रभावी साधन माना जा रहा है।
वेंटिलेशन, हालांकि अभी भी सार्थक है, इसका कम प्रभाव पड़ने की संभावना है।

ये भी पढ़े: यमन के मारिब में हौथियों ने मचाई हलचल, सरकारी प्रगति के बीच लड़ाई ज़ारी…

अध्ययन के अनुसार, जब वायरल कण फेफड़ों से बाहर निकलते हैं, तो उन में पानी की कमी हो जाती है और वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड (Carbon dioxide) के निचले स्तर के परिणाम स्वरूप पीएच (pH) में तेजी से वृद्धि होती है, जो मानव कोशिकाओं (Human Cells) को संक्रमित करने की वायरस की क्षमता को प्रभावित करती है।

ब्रिस्टल विश्वविद्यालय के जांचकर्ताओं ने ऐसे उपकरण विकसित किए हैं जो उन्हें किसी भी संख्या में छोटे, वायरस युक्त कण उत्पन्न करने और तापमान, आर्द्रता और यूवी प्रकाश (UV Rays) तीव्रता को कसकर नियंत्रित करते हुए पांच सेकंड से 20 मिनट के बीच इनकी संक्रमण की क्षमता को काफी हद तक खत्म कर देते हैं।

दुनिया भर में ये चल रहा है कोरोना का आंकड़ा: Corona

जानकारी के अनुसार, 13 जनवरी तक दुनिया में कुल 315,390,402 COVID-19 मामले दर्ज किए थे।वहीं आपको बता दें, पिछले 24 घंटे में 5,510,327 केस देखे गए थे। 

Corona Cases

ये भी पढ़े: Texas Hostage Case: मुस्लिम संगठन ने 4 लोगों को बंधक बनाया, आफिया सिद्दीकी के रिहाई की मांग की…

भारत का क्या है हाल? Corona

भारत में 2,47,417 ताजा COVID-19 मामले दर्ज किए गए। जिसके बाद अभी तक कुल 3,60,70,510 मामले दर्ज किए जा चूके है। वहीं देश में पिछले 24 घंटों में 442 मौतें भी हुई हैं, जिससे कुल मृतकों की संख्या 4,84,655 हो गई है।

24 घंटों में पॉजिटिविटी रेट 13.11 % दर्ज की गई। जब कि इस हफ़्ते पॉजिटिविटी रेट 10.80 % दर्ज की गई थी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपनी प्रेस कॉनफ्रेंस में कहा था कि COVID-19 का ओमिक्रॉन संस्करण खतरनाक है, और विशेष रूप से उन लोगों के लिए जिन्हें इस बीमारी का टीका नहीं लगाया गया है।

ये भी पढ़े: Srilanka Economic Crisis: कोविड के कारण श्रीलंका पर मंडरा रहा बड़ा आर्थिक संकट…