शामभवी शाही, नई दिल्ली: Covid-19: देश में कोरोना वायरस (COVID-19) के बढ़ते संक्रमण के कारण बहुत सी विपदाएं लोगों को झेलनी पड़ी हैं। कोरोना के इस दौर में लोगों को बहुत ही संघर्ष करना पड़ गया था। कहीं लोगों के लिए अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन सिलेंडर मौजूद नहीं थे तो कहीं लोगों के लिए वैक्सीन की स्लॉट खाली नहीं थी। लेकिन इन सभी संघर्षों के बावजूद भी भारत में अधिकतम लोगों ने अपना कोविड टीकाकरण पूर्ण करवाया है।

हालांकि 14 वर्ष से कम आयु के बच्चे और 60 वर्ष और उससे ज्यादा के बुजुर्ग लोग इस टीकाकरण का लाभ उठाने में असमर्थ रहे क्योंकि उनके लिए वैक्सीन मौजूद नहीं थी। लेकिन आपको बता दें कि अब इस आयुवर्ग के बच्चों और बुजुर्गों के लिए भी टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध हो चुकी है।

पूरे देश भर में 16 मार्च 2022 से 12 वर्ष से 14 वर्ष तक की आयु वाले बच्चों को कोरोना वायरस का टीका लगाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसी के दौरान 60 वर्षीय बुजुर्गों को भी बूस्टर डोस लगाने की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी।

ये भी पढ़ें: Lucky Plants: इन पौधों को घर में रखने से होगी मां लक्ष्मी की कृपा

स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी

इस बात की जानकारी देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Central Health Minister Mansukh Mandaaviya) ने एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा था कि “बच्चे सुरक्षित तो देश सुरक्षित! मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि 16 मार्च से 12 से लेकर 13 और 13 से लेकर 14 वर्ष तक के बच्चों का कोविड टीकाकरण शुरू हो रहा है।”

Mansukh Mandaviya

इस बात के साथ साथ उन्होंने यह भी जानकारी दी है कि 60 वर्ष और उससे अधिक उम्र के बुजुर्गों को भी सावधानी बरतते हुए बूस्टर डोस (Booster Dose) की खुराक दी जाएगी। इसी के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बच्चों के साथ साथ ही उनके परिजनों जिनकी उम्र 60 वर्ष या उससे ऊपर है, से निवेदन करते हुए कहा है कि वह यह खुराक अवश्य लें क्योंकि यह उनके लिए बेहद आवश्यक है।

Shenzhen City

ये भी पढ़ें: International Women’s Day: जानें किन महिलाओं ने कराया इतिहास के पन्नों में नाम दर्ज

चीन में नए वायरस का इज़ात

आपको बता दें कि सरकार के इस फैसले का कारण यह भी हो सकता है कि अभी हाल ही में चीन (China) के दो बड़े एवं प्रमुख शहरों शेनझेन (Shenzhen) और शंघाई (Shanghai) में एक बिलकुल नए वायरस के संक्रमण की एक ताज़ा रिपोर्ट सामने आई है। हालांकि इस मामले को लेकर चीन में सावधानी बरती जा रही है लेलों फिर भी सरकार में यह डर बरकरार है कि कहीं एक बार फिर से देश को नई चुनौतियों का सामना न करना पड़ जाए।

आपको बता दें की इस समय देश में केवल 14 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए ही कोविड टीकाकरण की सुविधा उपल्ब्ध है। लेकिन अब यह टीकाकरण का दौर 60 वर्षीय बुजुर्गों और 12 से 14 वर्ष तक ले बच्चों के लिए भी शुरू हो जाएगा।

Biological E Pharma Company

जानकारी के अनुसार बच्चों को लगने वाले इस वैक्सीन को हैदराबाद (Hyderabad) के बायोलॉजिकल ई (Biological E) नामक फार्मा कंपनी (Pharma Company) में विकसित किया गया है। इस वैक्सीन का नाम कॉर्बिवेक्स वैक्सीन (Corbevax Vaccine) है। इस वैक्सीन को पिछले महीने ही सरकार द्वारा 14 वर्ष तक के आयुवर्ग के बच्चों पर इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी गई है।

ये भी पढ़ें: Tejasswi Prakash : क्या तेजस्वी प्रकाश (Tejasswi Prakash) ने चुपके से कर ली करण कुंद्रा के साथ शादी, सिंदूर फ्लॉन्ट करती नजर आईं एक्ट्रेस