नई दिल्ली: MP : मध्य प्रदेश के शहडोल जिले (Shahdol District) में एक हैवानियत की दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। जहां एक युवक ने अपनी पुरानी रंजिश और दुश्मनी के चलते एक 13 वर्ष की छोटी बच्ची के साथ इंसानियत को शर्मसार करते हुए एक भयानक जुर्म को अंजाम दिया है। इस युवक ने अपनी पुरानी दुश्मनी के चलते उस छोटी बच्ची के साथ बलात्कार किया और इस पर भी मन ना भरने पर उसने बच्ची को पूरी बेदर्दी के साथ गला घोंटकर मौत के घाट उतार दिया।

घटना का विस्तार: MP

खबर के अनुसार जयसिंहनगर (Jaisinghnagar) थाना क्षेत्र में रहने वाली यह बच्ची शाम को शौच करने के लिए बाहर गई थी। काफी देर तक बच्ची के वापस न आने पर परिवार वालों को शंका हुई और वह बच्ची की तलाश करने लग गए। कुछ देर बाद उन्हें बच्ची का मृत शरीर मिला बच्ची के कपड़े फटे हुए थे और बच्ची का शरीर भी बुरी हालत में था। यह सब देख कर परिजनों को बच्ची के साथ हुए दुश्व्यवहार की शंका हुई जिस पर उन्होंने पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज कराई।

जुर्म को अंजाम देने का कारण:

पुलिस को अपनी छान बीन के दौरान पता चला की बच्ची के परिवार का गांव के शंकरिया यादव (Shankariya Yadav) के परिवार से वाद विवाद और दुश्मनी चल रही थी। पुलिस को तहकीकात के दौरान पता चला की शंकरिया का बेटा सूरज यादव (Suraj Yadav) वारदात के दिन से ही गायब है।

इतनी जानकारी हासिल होने पर पुलिस ने सूरज की खोज बीन जारी कर दी। गांववालों की मदद से पुलिस ने सूरज को ढूंढ लिया और उस से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान दिल दहला देने वाला सच सामने आया। सूरज ने बताया की पुरानी आपसी दुश्मनी के कारण उसने पहले बच्ची का बलात्कार किया और फिर उसका गला घोंटकर उसे मौत के घाट उतार दिया।

MP Latest News

यह घटना वाक़ई में इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली है। यह सोचने वाली बात है की किस प्रकार कोई इंसान दुश्मनी की आग में इतना जल सकता है की वह एक छोटी बच्ची के साथ इतनी दर्दनाक घटना को अंजाम दे सकता है। ऐसा जुर्म करने वाले आरोपियों के लिए शायद कोई बड़ी बात नहीं होती क्योंकि देश का क़ानून ही शायद इतना कमज़ोर है। देश के कानून की नींव ही इतनी कमज़ोर है की वही ऐसे जुर्म करने वालों के अंदर खौफ पैदा नहीं कर पाता।

अगर देश में ऐसे जुर्म करने वालों के खिलाफ सख्त नियम और कानून लागू होने लग गए तो ऐसे अपराधियों के अंदर इतनी क्षमता ही नहीं होगी की वह ऐसे शर्मनाक जुर्म को अंजाम दें। सरकार को चाहिए की वह देश में ऐसे क़ानून लेकर आये की ऐसे अपराधियों की रूह ऐसे जुर्म करने का सोचने से पहले भी काँप उठे।

अन्य देशों में बलात्कार की सज़ा:

यूनाइटेड अरब अमीरात में बलात्कार की सज़ा फांसी होती है, आरोपी को 7 दिन के अंतर्गत फांसी पर चढ़ा दिया जाता है। ईरान में बलात्कार के आरोपी को जनता के बीच बेदर्दी से मार दिया जाता है। अफ़ग़ानिस्तान में आरोपी को 4 दिन के अंदर गोली मार दी जाती है।

उत्तर कोरिया में बलात्कारी को सर में गोली मार दी जाती है। चीन में बलात्कार के लिए सीधे मौत की सजा दी जाती है। सऊदी अरब में बलात्कारी का सीधा सर कलम कर दिया जाता है। अमेरिका में बलात्कार की सज़ा उम्रकैद है।

इन सब के अलावा भारत में बलात्कार की सज़ा कम से कम 7 साल है जिसे बढ़ा कर कभी कभी 10 साल भी किया जा सकता है। सोचने वाली बात है की बलात्कार जैसे इतने बड़े और संगीन अपराध की सजा इतनी छोटी कैसे हो सकती है। शायद यही कारण है जो अपराधियों यह जुर्म करने का जज़्बा पैदा कर देता है।

Delhi: 87 वर्षीय महिला के साथ सफाईकर्मी ने किया बलात्कार…