अगर आपको नजर आए ये लक्षण तो आप जान जाएंगे कि आपको दिल का दौरा पड़ने की संभावना है

Date:

Share post:

बिना हृदय के हम अपने जीवन की कल्पना नहीं कर सकते हैं। यह स्पंदन जन्म से लेकर मृत्यु तक चलता रहता है। लेकिन हममें से कई लोगों ने इस अंग की देखभाल नहीं की है। और यही उपेक्षा एक दिन हमारे जीवन में संकट लेकर आती है। ऐसा तब तक होता है जब तक हम मर नहीं जाते। हम में से कई लोगों के बीच एक आम गलतफहमी है कि सीने में दर्द का मतलब संभावित दिल का दौरा है।

हालाँकि, ऐसा बिल्कुल नहीं है। सीने में दर्द के अलावा, ये लक्षण संभावित दिल का दौरा पड़ने का संकेत देते हैं। यह हम में से बहुत से लोगों के लिए अज्ञात है। जानिए क्या हैं इसके लक्षण। हाथ पैरों में सुन्नपन सीने में दर्द के अलावा हाथ पैरों का सुन्न होना भी हार्ट अटैक का कारण बन सकता है।

अगर लंबे समय तक आराम करने के बाद आपके हाथ और पैर सुन्न हो जाते हैं। ऐसे में उन संकेतों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। अगर यह सुन्नपन बार-बार हो तो बुरा है। ऐसा होने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। यदि नहीं, तो हृदयाघात की प्रवृत्ति होती है।

ये भी पढ़े: Dengue Recovery Tips: अगर आप डेंगू की बीमारी से जल्दी ठीक होना चाहते हैं तो इन फलों का सेवन करें

जब किसी व्यक्ति की रक्त वाहिकाएं संकरी हो जाती हैं, तो यह हाथों और पैरों के लिए आवश्यक रक्त की मात्रा को सीमित कर देता है। और नतीजतन, परिधीय धमनी रोग होता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि इससे शरीर के अंग कमजोर हो जाते हैं। रक्त का संचार ठीक से नहीं हो पाता। यह शरीर में विभिन्न जटिलताओं का कारण बनता है। तो अगर है भी तो पहले ही डॉक्टर से संपर्क कर लें। प्रख्यात विशेषज्ञों के अनुसार, परिधीय धमनी रोग वाले लोगों में दिल का दौरा पड़ने की संभावना अधिक होती है। सीने में दर्द के अलावा अगर किसी व्यक्ति को पैर की मांसपेशियों में दर्द, मांसपेशियों में थकान,

पैरों में जलन, जांघों में दर्द, टांगों और पैरों में सूजन से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए इन्हें फेंके नहीं। नहीं तो मौत हो सकती है। सांस की तकलीफ, सीने में जकड़न, सीने में दर्द, सीने में दबाव और एनजाइना या सीने में तकलीफ हृदय रोग के लक्षण हैं। इसके अलावा अगर आपको गर्दन, जबड़े, पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द है तो आपको दिल का दौरा पड़ सकता है। इसलिए पहले ही सावधान हो जाएं, नहीं तो खतरा मंडरा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार हृदय रोग से हर साल लगभग 18 मिलियन लोगों की मौत होती है। इनमें कोरोनरी हृदय रोग, सेरेब्रोवास्कुलर रोग, आमवाती हृदय रोग और अन्य स्थितियां शामिल हैं।

दिल के दौरे से होने वाली सभी मौतों में से एक तिहाई 70 वर्ष से कम उम्र के लोगों में होती है। हालांकि, युवा लोगों के प्रभावित होने की अधिक संभावना है। अगर किसी व्यक्ति को दिल की समस्या है तो व्यक्ति को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाएं नियमित रूप से लेनी चाहिए। कोलेस्ट्रॉल लेवल, हार्ट रेट, ब्लड शुगर लेवल, बॉडी मास इंडेक्स सही रखने की जरूरत है, नहीं तो खतरा मंडरा रहा है। शराब, तंबाकू, धूम्रपान, जंक और प्रोसेस्ड फूड से बचें, जो दिल के दौरे के खतरे को बढ़ाते हैं।

Latest Posts:-

spot_img

Related articles

इस क्रीमी पालक सूप को पोपी द सेलर मैन जितना स्ट्रांग बनाने की कोशिश करें

1990 की एनिमेटेड सीरीज़ Popeye the Cellar Man बचपन में हम में से कई लोगों का पसंदीदा शो...

PCOS: क्या आप पीसीओएस से पीड़ित हैं? ऐसे में कुछ बीज आपकी मदद कर सकते हैं

पीसीओएस को पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के रूप में भी जाना जाता है, यह मासिक धर्म वाली महिलाओं में...

मात्र 50 पैसे में 1 किलोमीटर जाएगी ये ई-रिक्शा, कीमत जान हैरान हो जाएगे आप

नई दिल्ली। इस साल ऑटो एक्सपो में इलेक्ट्रिक वाहनों का चलन है। इलेक्ट्रिक सेगमेंट निजी के साथ-साथ वाणिज्यिक...

iPhone में आया ये बड़ा अपडेट नहीं करने पर होगा बड़ा नुकसान, जल्दी देखें

Apple धीरे-धीरे iPhone 15 सीरीज की ओर बढ़ा। उनकी लोकप्रियता धीरे-धीरे बढ़ रही है। जहां पहले भारी जेब...