ग्लोइंग, वाइब्रेंट त्वचा चाहते हैं? नए साल में ये गलतियां न करें

Date:

Share post:

प्रकृति ने इस शरीर पर आठ छिद्रों और नौ दरवाजों वाली एक कोमल परत लगाई है। उस अस्तर में अस्थियों, मज्जा और वसा पर दबाव पड़ता है। उस परत का मूल्य जितना अधिक बाहर की ओर होता है, उतनी ही चमक उस त्वचा में होती है। हालांकि वक्त के निशान इसी त्वचा पर ज्यादा पड़ते हैं। इसीलिए प्राचीन काल से ही त्वचा की देखभाल का अभ्यास किया जाता रहा है। मौसम के बदलाव के साथ त्वचा की प्रकृति भी बदल जाती है। फिर से उम्र के साथ वह अपना रूप बदलता है। इसलिए त्वचा की नियमित देखभाल जरूरी है। अन्यथा, समय से पहले बुढ़ापा सुस्त और शुष्क त्वचा का कारण बन सकता है।

त्वचा की देखभाल बिगड़ सकती है। बेहतर होगा कि अब से वे सभी गलतियां न करें। कम से कम नए साल के संकल्पों में वह सब याद रख सकते हैं-

अतिरिक्त फेस वाश-

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितना तेल का उपयोग करते हैं, याद रखें कि मुंह में स्वाभाविक रूप से पैदा होने वाला तेल महत्वपूर्ण है। आपको अपना चेहरा दिन में दो बार धोना चाहिए। अगर आप उससे ज्यादा चेहरा धोते हैं या ज्यादा साबुन का इस्तेमाल करते हैं तो नुकसान ज्यादा होता है।

गले, गर्दन की उपेक्षा-

आमतौर पर हम चेहरे को लेकर ज्यादा चिंतित रहते हैं। वह सब कुछ जो उसकी परवाह करता है। हालांकि, गर्दन, गर्दन और कंधे पूरी तरह से नंगे हैं, जो बिल्कुल भी अच्छा नहीं है।

एसपीएफ़ वाले उत्पादों का उपयोग करना-

इन दिनों ज्यादातर मेकअप या ब्यूटी प्रोडक्ट्स में एसपीएफ का जिक्र होता है। हममें से कई लोग इन्हें पहनकर सुरक्षित महसूस करते हैं। सनस्क्रीन को अलग से लगाने के बारे में न सोचें। यह कतई अच्छा अभ्यास नहीं है।

अतिरिक्त देखभाल-

ज्यादा सीरम का इस्तेमाल करने से त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। रंजकता भी हो सकती है।

मस्सा-

जब चेहरे पर एक छोटा सा दाना दिखाई देता है, तो कई लोगों की प्रवृत्ति होती है कि इसे दोनों तरफ से निचोड़ लें। बहुत से लोग एक्ने पिंपल्स को शगल के रूप में लेना पसंद करते हैं। लेकिन चूंकि इससे चेहरे पर दाग-धब्बे हो सकते हैं, इसलिए इंफेक्शन भी बढ़ सकता है।

कलरफुल मेकअप-
उच्च रंजकता वाले सौंदर्य प्रसाधनों का अत्यधिक उपयोग हानिकारक है। उदाहरण के लिए, नीले या हरे रंग के आईशैडो, रंगीन मस्कारा और काजल को हटाना मुश्किल होता है। नतीजतन, एक ओर वे त्वचा पर बैठकर त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं, और दूसरी ओर, अत्यधिक निचोड़ने से भी नुकसान हो सकता है।

अस्वास्थ्यकर खान-पान

हेल्दी और ग्लोइंग स्किन के लिए डाइट में बदलाव जरूरी है। शरीर के हार्मोन पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले खाद्य और पेय पदार्थों को बंद कर देना चाहिए। चीनी, कोको और मसालेदार भोजन कम खाना चाहिए। क्‍योंकि यह एक्‍ने, रोसैसिया और एलर्जी जैसी बीमारियों को बढ़ा सकता है। रंगीन फलों और सब्जियों में खनिज, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन होते हैं जो त्वचा को भीतर से मॉइस्चराइज़ करेंगे। यह कोमल और सुंदर होगा।

Latest Post

spot_img

Related articles

इस क्रीमी पालक सूप को पोपी द सेलर मैन जितना स्ट्रांग बनाने की कोशिश करें

1990 की एनिमेटेड सीरीज़ Popeye the Cellar Man बचपन में हम में से कई लोगों का पसंदीदा शो...

PCOS: क्या आप पीसीओएस से पीड़ित हैं? ऐसे में कुछ बीज आपकी मदद कर सकते हैं

पीसीओएस को पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के रूप में भी जाना जाता है, यह मासिक धर्म वाली महिलाओं में...

मात्र 50 पैसे में 1 किलोमीटर जाएगी ये ई-रिक्शा, कीमत जान हैरान हो जाएगे आप

नई दिल्ली। इस साल ऑटो एक्सपो में इलेक्ट्रिक वाहनों का चलन है। इलेक्ट्रिक सेगमेंट निजी के साथ-साथ वाणिज्यिक...

iPhone में आया ये बड़ा अपडेट नहीं करने पर होगा बड़ा नुकसान, जल्दी देखें

Apple धीरे-धीरे iPhone 15 सीरीज की ओर बढ़ा। उनकी लोकप्रियता धीरे-धीरे बढ़ रही है। जहां पहले भारी जेब...