महीने के अंत में भी नहीं मिलता कर्मचारियों को 10,000 गैस सिलेंडर, 650 रुपये किलो बिक रहा है मीट!

Date:

Share post:

सुनहरी मिर्च तो जलकर राख हो चुकी है। पाकिस्तान इस बार भी कुछ ऐसा ही हाल देखने वाला है! पड़ोसी देश विकट स्थिति का सामना कर रहा है। पाकिस्तान की आर्थिक मंदी चरम पर पहुंच गई है. आलम यह हो गया है कि वेडिंग हॉल से लेकर शॉपिंग मॉल तक सब कुछ जल्दी बंद किया जा रहा है। यहां तक ​​कि पाकिस्तान में रसोई गैस की कीमत भी अविश्वसनीय रूप से बढ़ गई है। मूल रूप से श्रीलंका की तरह पाकिस्तान भी कर्ज के बोझ तले दबा हुआ है। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, देश के कुल कर्ज की रकम 43 लाख करोड़ पर पहुंच गई है।

पिछले 3 साल में ही पाकिस्तान ने 1400 करोड़ रुपए का कर्ज दिया है। कुल मिलाकर पाकिस्तान बदहाली की ओर बढ़ रहा है। आइए जानें कि आखिर क्या वजह है कि पाकिस्तान श्रीलंका बनने की ओर बढ़ रहा है?पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार पिछले एक महीने में घटा है। पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार में 5.8 अरब डॉलर की कमी आई है। पिछले महीने देश के विदेशी मुद्रा भंडार में 294 मिलियन डॉलर की गिरावट आई। विशेष रूप से, श्रीलंका में भी घटते विदेशी मुद्रा भंडार के कारण द्वीप राष्ट्र गंभीर वित्तीय संकट में था। वित्त वर्ष 2022-23 की जुलाई-अक्टूबर तिमाही में पाकिस्तान का राजकोषीय घाटा जीडीपी का 1.5 फीसदी था। यहां तक ​​कि पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ने भी माना है कि देश इस समय ‘गंभीर’ स्थिति से गुजर रहा है। न्यूज एजेंसियों के मुताबिक, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने सरकारी पैसे बचाने के लिए कई कदम उठाए हैं। यहां तक ​​कि नागरिकों की मूलभूत सुविधाएं भी छिन्न-भिन्न हो गई हैं। पाकिस्तान ‘वर्क फ्रॉम होम पॉलिसी’ कर दफ्तर में बिजली बचाना चाहता है। जुलाई 2023 तक बिजली के पंखों का उत्पादन भी बंद कर दिया गया है।

फिलहाल बल्ब का उत्पादन बंद करने का भी फैसला किया गया है। पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति इस स्तर पर पहुंच गई है कि आम लोग प्लास्टिक के पैकेट, प्लास्टिक की थैलियों में एलपीजी जमा कर रहे हैं। कई रिपोर्टों के अनुसार, पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के निवासियों को प्लास्टिक की थैलियों में रसोई गैस ले जाते देखा गया है। माना जा रहा है कि एलपीजी संकट के डर से आम लोग ऐसे हैं गैस जमा होने लगी है। इसके अलावा मालूम हो कि हंगू शहर में कई लोगों को रसोई गैस सिलेंडर नहीं मिल रहा है. पाकिस्तान में एक कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 10 हजार रुपये तक पहुंच गई है। हाल ही में पाकिस्तान ने कर्ज को नियंत्रित करने के लिए कई कदम उठाए हैं। नए कदम के मुताबिक बाजार और मैरिज हॉल जल्दी बंद हो जाएंगे। कैबिनेट ने ऊर्जा बचाने और आयातित तेल पर निर्भरता कम करने के लिए ऊर्जा संरक्षण का भी फैसला किया।

रक्षा मंत्री ने कहा कि बाजार रात साढ़े आठ बजे बंद हो जाएंगे। साथ ही मैरिज हॉल भी रात 10 बजे तक बंद कर दिए जाएंगे। सब भी दिन में भी बैठकें होंगी। पाकिस्तान सरकार का अनुमान है कि इससे 62,000 करोड़ रुपए की बचत होगी। पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति को एक और तस्वीर के जरिए आसानी से समझा जा सकता है। पाकिस्तान सरकार के पास नियमित खदानों के भुगतान के लिए भी पैसा नहीं है। इनमें रेलवे विभाग की हालत सबसे खराब है। सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों को ग्रेच्युटी देने के लिए भी पैसा नहीं है। जो पिछले एक साल में करीब 25 हजार करोड़ रुपए है। साथ ही आरोप है कि रेलवे के सेवानिवृत्त लोगों को नियमित पेंशन नहीं मिल रही है

Latest Post

spot_img

Related articles

इस क्रीमी पालक सूप को पोपी द सेलर मैन जितना स्ट्रांग बनाने की कोशिश करें

1990 की एनिमेटेड सीरीज़ Popeye the Cellar Man बचपन में हम में से कई लोगों का पसंदीदा शो...

PCOS: क्या आप पीसीओएस से पीड़ित हैं? ऐसे में कुछ बीज आपकी मदद कर सकते हैं

पीसीओएस को पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के रूप में भी जाना जाता है, यह मासिक धर्म वाली महिलाओं में...

मात्र 50 पैसे में 1 किलोमीटर जाएगी ये ई-रिक्शा, कीमत जान हैरान हो जाएगे आप

नई दिल्ली। इस साल ऑटो एक्सपो में इलेक्ट्रिक वाहनों का चलन है। इलेक्ट्रिक सेगमेंट निजी के साथ-साथ वाणिज्यिक...

iPhone में आया ये बड़ा अपडेट नहीं करने पर होगा बड़ा नुकसान, जल्दी देखें

Apple धीरे-धीरे iPhone 15 सीरीज की ओर बढ़ा। उनकी लोकप्रियता धीरे-धीरे बढ़ रही है। जहां पहले भारी जेब...