Karnataka Hijab Row: कर्नाटक में सभी स्कूलों एवं कॉलेजों को 3 दिन के लिए पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया है। कर्नाटक में हिंदू एवं मुस्लिम छात्रों के बढ़ते हुए हिजाब से संबंधित दंगों को ध्यान में रखते हुए कर्नाटक सरकार ने यह फैसला लिया है। आज यानी की 8 फरवरी मंगलवार को कर्नाटक के हाई कोर्ट में हिजाब कॉन्ट्रोवर्सी से संबंधित सुनवाई थी। जिसके बाद सुनने में यह आ रहा है कि कर्नाटक में अब 3 दिन के लिए सभी स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे।

Karnataka High Court

आज अदालत की कार्यवाही समाप्त होने से ठीक पहले, कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, “मैं सभी छात्रों, शिक्षकों और स्कूलों और कॉलेजों के प्रबंधन के साथ-साथ कर्नाटक के लोगों से शांति और सद्भाव बनाए रखने की अपील करता हूं। मैंने सभी हाई स्कूल और कॉलेज बंद करने का आदेश दिया है।  अगले तीन दिनों के लिए। सभी संबंधितों से सहयोग करने का अनुरोध किया जाता है।”

आपको बता दें की यह मामला 1 जनवरी से ही चला आ रहा है। दरअसल इस मामले की शुरुआत तब हुई जब कर्नाटक के उडुपी (Uduppi) स्थित पीयू कॉलेज (PU College) में मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) लड़कियों के कॉलेज के अंदर हिजाब पहन कर आने पर प्रतिबंध लगाया गया। मुस्लिम लड़कियों का कहना था कि कॉलेज के प्रिंसिपल रुद्र गौड़ा (Rudra Gaura) ने हिजाब पहनने के कारण उन्हें कॉलेज में दाखिल नहीं होने दिया।

यह भी पढ़ें: Praveen Kumar: नहीं रहे महाभारत के भीम, 74 वर्ष पर हुआ निधन

इन सभी प्रतिबंधों के बाद 6 मुस्लिम लड़कियों ने उच्च न्यायालय में अपील की है कि उनके हिजाब पहनकर स्कूल या कॉलेज जाने पर प्रतिबंध को हटाया जाए। यह मामला अभी भी उच्च न्यायालय में चल ही रहा है। वहीं कुछ हिंदू समुदाय (Hindu Community) के बच्चे भी भगवा रंग (Saffron Color) की शॉल ओढ़ प्रदर्शन पर निकल गए हैं। हिंदू समुदाय के बच्चों का कहना है कि अगर स्कूलों और कॉलेजों में हिजाब पहनने पर प्रतिबंध नहीं होगा तो वह भी भगवा रंग पहनकर आयेंगे।

इन देशों में है हिजाब पर प्रतिबंध:

Women In Hijab

दुनिया में कई अन्य ऐसे भी देश हैं जहाँ पर सार्वजनिक स्थानों पर हिजाब पहनने पर पूरी तरीके से प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। इनमें से कुछ तो ऐसे भी देश हैं जहाँ अगर आप इस नियम का उलंघन करते हैं तो आपको सजा भुगतनी पड़ सकती है।

चीन (China)
चीन ने धार्मिक उग्रवाद के खिलाफ 2017 में कार्रवाई शुरू करते हुए मुस्लिम धर्म के सभी चेहरे ढकने वाले कपड़ों पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। जो लोग हेडस्कार्फ़ (Headscarf), घूंघट, बुर्का (Burqa), या अर्धचंद्राकार और तारे वाले कपड़े (Clothing With Crescent Moon) और लंबी दाढ़ी (Long Beard) पहनते हैं, उन्हें सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने से चीन में प्रतिबंधित क्र दिया गया है।

फ्रांस (France)
फ्रांस पहला यूरोपीय देश था जिसने सार्वजनिक रूप से बुर्का पहनने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया था। 2011 में, फ्रांस ने “2010-1192 का कानून: सार्वजनिक स्थान पर चेहरे को छुपाने पर रोक लगाने वाले अधिनियम” के साथ चेहरा को ढंकने पर प्रतिबंध लगा दिया।

बेल्जियम (Belgium)
2011 में फ्रांस के नक्शेकदम पर चलते हुए, बेल्जियम ने सार्वजनिक रूप से बुर्का या नकाब जैसे पूरे चेहरे को ढंकने वाली पोशाक पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया, जो चेहरे के निचले आधे हिस्से को ढकता है।

श्रीलंका (Sri Lanka)
29 अप्रैल 2021 को प्रभावी हुए सरकारी कानून के हिस्से के रूप में श्रीलंका की सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं (National Security Concerns) के कारण सभी प्रकार के चेहरे के घूंघट पर प्रतिबंध लगाने वाला दूसरा नया देश बन गया।