MP: जुर्म करने वाले हमेशा अपने नए रास्ते ढूंढ ही लेते हैं। ऐसा ही एक नया रास्ता निकाला था मध्य प्रदेश के एक युवक ने जिसने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शाजापुर ज़िले (Shajapur District) के भंसाली मोहल्ले के राहुल जैन (Rahul Jain) नामक एक व्यापारी से लड़की की आवाज़ में घंटों तक फोन पर बात की और फिर उसे अपने जाल में फंसाकर उसका अपहरण कर लिया और व्यापारी के घरवालों से लाखों रुपए फिरौती की रकम के तौर पर मांगी।

मामले की पूरी पड़ताल के बाद कोतवाली के थाना प्रभारी ने बताया कि दरअसल यह लड़की को आवाज निकालने वाला लड़का राहुल से काफी देर तक बात किया करता था उसके बाद एक दिन उसने राहुल को शाजापुर की ही एक जगह पर मिलने बुलाया। राहुल के वहां जाते ही कुछ लोगों ने उसका अपहरण कर उसे कार में बैठा कर कोटा लेते गए। इसके बाद उन्होंने व्यापारी की मां से फोन पर 10 लाख रुपए फिरौती की मांग की। इन सब बातों से घबरा जाने के बाद राहुल की मां पुलिस स्टेशन पहुंची और एफआईआर दर्ज करवाई जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाए हुए आरोपियों को शाजापुर फिरौती की रकम लेने बुलाया और उन्हें धार दबोचा।

ये भी पढ़े: Haunted Places In India: ये हैं भारत की सबसे डरावनी जगहें…

पूछताछ करने पर उन्हें पता चला की इस पूरे प्लान का मास्टरमाइंड एक गोविंद (Govind) नाम का लडका था। गोविंद अक्सर लोगों से फोन पर लड़की की आवाज़ निकाल कर बात करता था और फिर उन्हें अपने जाल में फांस कर उनसे लाखों वसूल किया करता था। इस गिरोह को कोर्ट में पेश किया गया जिसकी सुनवाई के बाद इन्हें जेल भेज दिया गया।

पिछले वर्ष जनवरी में ऐसी ही एक फेक कॉलिंग की वारदात देश की राजधानी दिल्ली में सामने आयी थी जिस में दो लड़कों ने बाकायदा फुल प्रूफ प्लानिंग के साथ अपनी ही किडनेपिंग का ढोंग रचाते हुए अपने ही घर वालों से फिरौती की मांग की थी। दिल्ली के ज़ाकिर नगर में रहने वाले दो मुस्लिम युवा आफ़ताब और नदीम ने अपने ही किडनैपिंग की पूरी प्लानिंग बनायीं।

उनका कहना था की यह प्लान बाने की प्रेरणा उन्हें मशहूर अमेज़न प्राइम सीरीज ‘breathe’ से मिली है। दरअसल नदीम अपने पिता के साथ उनके फर्नीचर के दूकान पर काम किया करता था लेकिन हर अन्य माँ बाप की तरह नदीम के पिता भी उसे दारु पिने की और आवारा की तरह घूमने की इजाज़त नहीं देते थे। नदीम का कहना था की उसके पिता उसे खर्च करने के लिए पर्याप्त पैसे भी नहीं दिया करते थे जिसके कारण उन्होंने यह योजना बनाई।

इसके बाद आफ़ताब और नदीम दोनों ने यह योजना बनायीं की वह अपने घर वालों को धोखा देते हुए किडनैपिंग का नाटक रचाएंगे। अपने इस नाटक को अंजाम देते हुए यह दोनों आगे बढे और आफ़ताब ने अपने पिता को किडनैपर के तौर पर फ़ोन करते हुए नदीम के बदले 2 लाख रुपयों की मांग की। इस घटना के बाद आफताब के पिता ने पुलिस स्टेशन में यह मामला दर्ज करवाया उन्होंने पुलिस को बताय की उनका भतीजा नदीम अगवाह हो गया है और किडनैपर 2 लाख फिरौती की रकम के तौर पर मांग रहे हैं।

पुलिस ने कहा कि सीसीटीवी की जांच करने पर पता चला कि अपहरण की ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी। बाद में, पुलिस को जामिया नगर में एक महिला का मोबाइल फोन लूटने की एक और कॉल आई और सीसीटीवी फुटेज की जांच करने पर पता चला कि आफताब और नदीम दोनों स्नैचिंग मामले में शामिल थे, अधिकारी ने कहा। मंगलवार को छापेमारी कर दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

जुर्म की इस कहानी को जान कर बहुत लोग हैरान हो गए हैं की आखिर किसी व्यक्ति के दिमाग में इतनी खुराफ़ात चल कैसे सकती है।