शामभवी शाही, नई दिल्ली: Assembly Elections 2022: विधानसभा चुनाव 2022 की तारीख अब नजदीक आ रही है। हर राज्य में हलचल शुरू हो चुकी है। जहां एक तरफ चुनाव आयोग (EC) ने चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी है। जिसके तहत पंजाब (Punjab) में 14 फरवरी को चुनाव होंगे जो एक चरण में ही पूरे हो जाएंगे। इसी विषय के संबंध में पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (CM Charanjit Singh Channi) ने मुख्य चुनाव सचिव सुशील चंद्रा (Sushil Chandra) को एक पत्र लिखा है। जिस में CM चन्नी ने चुनाव की तारीख को बढ़ाने का ज़िक्र किया है।

CM चन्नी ने क्यों की पंजाब चुनाव को आगे बढ़ाने की अपील?

उन्होंने अपने पत्र में मुख्य चुनाव सचिव से चुनाव की तारीख को 14 फरवरी से आगे बढ़ाने की मांग की है क्योंकि 16 फरवरी को रविदास जयंती है जिसके कारण अनुसूचित समुदाय के बहुत से लोग उत्तर प्रदेश के बनारस शहर की ओर रवाना होंगे और इस कारण वह मतदान नहीं कर सकेंगे जो की उनका संवैधानिक अधिकार है।

ये भी पढ़े: Congress: “कांग्रेस का भविष्य अंधकारमय है”: अश्वनी कुमार

CM चन्नी ने पत्र में क्या लिखा?

चन्नी ने अपने पत्र में लिखा है, “मैं आपको पंजाब विधान सभा के चुनाव से संबंधित एक वास्तविक मुद्दे के लिए परेशान कर रहा हूं, जिसके लिए मतदान 14 फरवरी 2022 को होना है। राज्य की कुल जनसंख्या में लगभग 32 प्रतिशत का योगदान देने वाले अनुसूचित जाति समुदाय के प्रतिनिधियों द्वारा मेरे संज्ञान में लाया गया है कि श्री गुरु रविदास दी की जयंती 16.02.2022 को पड़ती है और इस अवसर पर बड़ी संख्या में लोग राज्य से अनुसूचित जाति के भक्तों (लगभग 20 लाख) के 10 से 16 फरवरी 2022 तक उत्तर प्रदेश के बनारस आने की संभावना है।

Assembly Elections 2022

ये भी पढ़े: School Reopening: दिल्ली सरकार स्कूलों को फिर से खोलने की कोशिश में :मनीष सिसोदिया

ऐसे में, इस समुदाय के कई लोग राज्य विधानसभा के लिए अपना वोट नहीं डाल पाएंगे, जो कि उनका संवैधानिक अधिकार है। उन्होंने अनुरोध किया है कि मतदान की तारीख को इस तरह बढ़ाया जाए कि वे 10 से 16 फरवरी 2022 तक बनारस जा सकें, साथ ही विधानसभा चुनाव में भी भाग ले सकें।

उपरोक्त पृष्ठभूमि में, यह उचित और उचित माना जाता है कि पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के लिए मतदान कम से कम छह दिनों के लिए स्थगित किया जा सकता है, जिससे लगभग 20 लाख लोग राज्य विधानसभा के लिए अपने वोट के अधिकार का उपयोग कर सकें। मुझे विश्वास है कि आप इस पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेंगे और तदनुसार आवश्यक कार्रवाई करेंगे।”

ये भी पढ़े: CBSE Board Exam: दूसरे चरण की परीक्षा कराने के लिए CBSE तैयार, जल्द मोदी करेंगे ”परीक्षा पे चर्चा”