ब्रम्हांड में हर वक़्त कोई न कोई घटनाक्रम होता ही रहता है, जिसका असर पृथ्वी पर भी देखने को मिलता है।
जिसमें प्राकृतिक आपदा सबसे अग्रणी मानी जाती है, जैसे की तूफ़ान, बारिश, भूकंप और भी कई चीजें जिनसे हमारा जीवन सीधे तौर पर प्रभावित होता है और इन घटनाओ को रोकना हमारे बस में बिलकुल भी नहीं है, हमें बस मुखदर्शक बन कर इनका सामना करना होता है और कई बार मानव जाति को इसके भयानक परिणाम देखने को मिलते हैं।
खगोलीय वैज्ञानिकों की माने तो ये घटनाएं होना कोई बड़ी बात नहीं है और हम इसे चाहकर भी नहीं रोक सकते
celestial event

13 जुलाई 2022 को क्या होगा: इस दिन पृथ्वी पर एक बड़ी खगोलीय घटना होने का अनुमान है, जिसके कारण समुद्र में ज्वार भाटा की एक बड़ी श्रृंखला देखने को मिल सकती है, इसको लेकर सभी को सावधान रहने की जरुरत है।
दरअसल, 13 जुलाई 2022 को पृथ्वी और चाँद की दुरी सबसे कम होगी, जिसका कुछ न कुछ विपरीत परिणाम पुरे विश्व में देखने को मिलेगा, जानकारों की माने तो इस दिन पृथ्वी की दुरी चाँद से महज 3,57,264 किमी रह जाएगी और इसी दिन सुपरमून देखने को भी मिलेगा।

जरुरी बचाव: मुमकिन हो तो इस दिन अपने घर में रहने की कोशिश करें, और गैरजरूरी कामों को टाल दें ताकि आपको किसी प्रकार की परेशानी न झेलनी पड़े, साथ ही समुद्री इलाको से दुरी बनाये रखें और सभी को इससे बचने के उपाय बताएं।