हम सपने क्यों देखते हैं, नींद किस समय आती है? जान कहेंगे OMG!

Date:

Share post:

Why Do We Dream: हम सभी के पास सपने हैं। हम में से कई लोगों को इस बात का ज्ञान नहीं होता है कि सपने में भी यह हमारी आंखों के सामने क्यों दिखाई देता है। तो एक रहस्य बना रहता है। लेकिन चिंता न करें, इस बार हम आसानी से जानेंगे कि आंखों में सपने क्यों आते हैं।

दरअसल सपने कई दृश्य होते हैं। अब यह दृश्य नींद में हमारी आँखों के सामने तैरता रहता है। उसी जोड़-तोड़ से सपने बनते हैं। अब ध्यान रहे कि नींद में सपने एक निश्चित समय पर आते हैं।

सपने देखना बिल्कुल सामान्य है। ऐसे में कोई भी सपना देख सकता है। लेकिन कुछ लोगों को यह याद रहता है और कुछ लोगों को यह याद नहीं रहता। जिन्हें याद नहीं रहता उन्हें यह नहीं लगता कि वे सपना देख रहे हैं। इस बार यह सच नहीं है। ऐसे में हर कोई सपने देखता है।

ये भी पढ़े: Dengue Recovery Tips: अगर आप डेंगू की बीमारी से जल्दी ठीक होना चाहते हैं तो इन फलों का सेवन करें

इस संदर्भ में कोलकाता के प्रमुख मनोचिकित्सक डॉ. देबंजन पान ने कहा, दरअसल लोगों के मन में सपनों को लेकर कई तरह के सवाल होते हैं। उस प्रश्न का उत्तर दिया जाना चाहिए। बुरे सपने भी इंसान हैं। इसलिए इस मामले के बारे में जानना जरूरी है।

लोग सपने कब देखते हैं?

डॉ. देबंजन पान ने कहा, हमारी नींद की एक खास अवस्था रैपिड आई मूवमेंट (आरईएम) है। इस दौरान आंखों की हलचल, हृदय गति बढ़ जाती है, रक्तचाप बढ़ जाता है। इस समय हम मुख्य रूप से सपने देखते हैं। रैम हमारी नींद का 20 प्रतिशत कवर करता है। यह RAM बहुत कम समय के लिए होती है। साथ ही, जब नींद समाप्ति की ओर होती है, तो REM बढ़ जाता है। तो आप नींद के अंत की ओर अधिक सपने देखते हैं। इस बिंदु को ध्यान में रखना चाहिए। इसलिए हमें अपने सपने याद रहते हैं।

लोग सपने क्यों देखते हैं?

डॉ. देबंजन पान ने कहा, लोग विभिन्न कारणों से सपने देखते हैं। ऐसे में कई वैज्ञानिकों ने इस मुद्दे की जांच की है। विश्व प्रसिद्ध न्यूरोसाइंटिस्ट सिगमंड फ्रायड ने इस विषय पर सबसे बड़ा काम किया है। उनके अनुसार हमारी बहुत सी इच्छाएं दमित होती हैं। हमें उसका स्पर्श सामान्य रूप से महसूस नहीं होता। लेकिन जब लोग सपने देखते हैं तो वह सामने आता है। इसके अलावा, वैज्ञानिकों के एक अन्य समूह का मानना ​​है कि नींद के दौरान कुछ संकेत मस्तिष्क तक पहुंचते हैं। अब सपना उससे बनती है।

क्या सपने देखना अच्छा है?

डॉ. देबंजन पान ने कहा, जरूर कुछ अच्छे गुण हैं। दरअसल सपनों के जरिए हमारी याददाश्त मजबूत होती है। सपनों के माध्यम से हमारी भावनाओं को सही दिशा में ले जाया जा सकता है। मस्तिष्क दिन भर में बहुत सारी जानकारी एकत्र करता है। अब उस जानकारी को छोटा करने के लिए सपने देखना जरूरी है। इसके अलावा भी कई रचनात्मक कार्य स्वप्न में लाभकारी होते हैं। ऐसा हो सकता है कि लेखन का एक अच्छा प्लॉट दिमाग में आ जाए। एक बार पेंटिंग सीन तैयार हो जाए। अब ये बातें सपनों में होती हैं।

कौन अधिक सपने देखता है?

डॉ देबनजन पान, बहुत से लोग सपने देखते हैं। ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान लोग ज्यादा सपने देखते हैं। क्‍योंकि इन दिनों शरीर में हार्मोनल बदलाव होते हैं।

माइग्रेन के कारण आप अधिक सपने देख सकते हैं।
रात को ऑयली खाना खाने से नींद नहीं आती है। तब सपने ज्यादा आते हैं।
साथ ही यदि आप उदास हैं, यदि आप चिंतित हैं तो आप स्वप्न देख सकते हैं।
लेकिन फिर, हर कोई सपना देख सकता है। इसलिए इस बारे में ज्यादा सोचने का कोई मतलब नहीं है।

नोट: रिपोर्ट जागरूकता उद्देश्यों के लिए लिखी गई है। कोई भी निर्णय लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

Latest Posts:-

spot_img

Related articles

इस क्रीमी पालक सूप को पोपी द सेलर मैन जितना स्ट्रांग बनाने की कोशिश करें

1990 की एनिमेटेड सीरीज़ Popeye the Cellar Man बचपन में हम में से कई लोगों का पसंदीदा शो...

PCOS: क्या आप पीसीओएस से पीड़ित हैं? ऐसे में कुछ बीज आपकी मदद कर सकते हैं

पीसीओएस को पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के रूप में भी जाना जाता है, यह मासिक धर्म वाली महिलाओं में...

मात्र 50 पैसे में 1 किलोमीटर जाएगी ये ई-रिक्शा, कीमत जान हैरान हो जाएगे आप

नई दिल्ली। इस साल ऑटो एक्सपो में इलेक्ट्रिक वाहनों का चलन है। इलेक्ट्रिक सेगमेंट निजी के साथ-साथ वाणिज्यिक...

iPhone में आया ये बड़ा अपडेट नहीं करने पर होगा बड़ा नुकसान, जल्दी देखें

Apple धीरे-धीरे iPhone 15 सीरीज की ओर बढ़ा। उनकी लोकप्रियता धीरे-धीरे बढ़ रही है। जहां पहले भारी जेब...