खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


GST कॉउन्सिल परिषद् की बैठक में कुछ अहम फैसले लिए गए, जिसमें से ज्यादातर आम आदमी को,

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


एक और परेशानी की तरह चुभने वाले हैं, इस बार की बैठक में कुछ टैक्स स्लैब में बदलाव तो कई के रेट में बढ़ोतरी की गयी,

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


जिसका साफ असर आमजन की जेब पर पड़ने वाला है, अब अपनी आधारभूत चीजों के लिए पहले से अधिक पैसे चुकाने होंगे।

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


वहीँ पहले से gst छूट का लाभ ले रहे कुछ सामानों के, इस छूट को खत्म कर दिया गया है। आइए देखते हैं कौन सी वस्तु हुई महँगी,

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


आगे से जब भी आप किसी पैकेट बंद सामान को खरीदने जाएंगे, उसके लिए आपको 18 फीसदी जीएसटी चुकानी होगी, जो की पहले मात्र

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


5 फीसदी थी। अब नारियल पानी पीना भी महंगा हो जाएगा क्योंकि इसे भी 12 फीसदी के जीएसटी स्लैब में जोड़ दिया गया है, साथ ही फुटवियर

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


के कच्चे माल पर भी अब से 12 फीसदी जीएसटी देना होगा। कुछ ऐसे भी प्रोडक्ट्स हैं जिन्हे 5 फीसदी के स्लैब में जोड़ा गया है, जिसमें दही,पनीर,लस्सी,

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


मछली,सूखा मखाना,सोयाबीन,मटर और गेहूं जैसे कई अन्य उत्पाद। ये सभी पहले जीएसटी से बाहर थे। इससे साफ पता चलता है की

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


आम आदमी के जरुरत की चीजें पहले से महँगी होने वाली हैं और उनका खर्च बढ़ने वाला है। पूरा देश पहले ही महंगे पेट्रोल डीजल और खाने के तेल

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


की बढ़ती कीमतों से परेशान था, की अब ये नयी मुसीबत आ गयी है, कहीं भी आम आदमी को राहत मिलती नजर नहीं आ रही है।