खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


120kmph की रफ़्तार से भागने वाले दुनिया के सबसे जानवर चीता (Cheetah) ने, भारत में एंट्री के लिए अपनी

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


कमर कस ली है। साल 1952 में ही चीता को भारत सरकार ने विलुप्त श्रेणी में डाल दिया था। लेकिन

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


अब फिर से इन्हे भारत में बसाने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। जानकारी के अनुसार 17 सितम्बर को

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नामीबिया से भारत लाए जा रहे चीतों का स्वागत करेंगे। 17 सितम्बर को ही

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


प्रधानमंत्री का जन्मदिन भी है। नामीबिया से इनको हवाई जहाज के जरिए राजस्थान के जयपुर एयरपोर्ट

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


पर उतारा जाएगा, उसके बाद सेना के हेलीकाप्टर से इन्हे मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क ले जाया जाएगा।

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


इनके रहने से लेकर खाने तक के लिए सभी प्रकार के इंतजाम किए गए हैं, 748 किमी के क्षेत्र में फैले इस

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


पार्क के कुछ हिस्से को ही इन चीतों के रहने के लिए तैयार किया गया है। चीतों के आने के अलगे सात से

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


आठ दिन तक इन्हे एकांतवास में रखा जाएगा, उसके बाद उन्हें खुले में छोड़ा जाएगा। तो फिर आप भी तैयार

खबरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें


हो जाइए फिर से भारत में चीतों के दहाड़ सुनने के लिए, जल्द ही आप भी इन्हे देख पाएंगे।